Home मिडिल ईस्ट मोसुल से एक हफ्ते में विस्थापित किये गए 40,000 लोग

मोसुल से एक हफ्ते में विस्थापित किये गए 40,000 लोग

बग़दाद: इराकी शहर मोसुल से गत सप्ताह 40,000 लोग विस्थापित किये गए. हाल के दिनों में इराक से विस्थापन में तेजी आई है. इसका सबसे बड़ा कारण घनी आबादी वाले पश्चिमी मोसुल में युद्ध सम्बन्धी गतिविधियाँ काफी बढ़ी हैं. वहीँ सहायक एजेंसीज का कहना है कि विस्थापितों को शरण देने के लिए पर्याप्त संख्या में शिविर उपलब्ध हैं.

इंटरनेशनल आर्गेनाइजेशन फॉर माइग्रेशन के मोसुल डिस्प्लेसमेंट ट्रैकिंग मैट्रिक्स ने विस्थापित होने वाले लोगों की संख्या को उजागर किया. अक्टूबर में ये संख्या 206,000 थी तो फ़रवरी में 164,000 लोग विस्थापित हुए. ये संख्या अभी तेजी से बढ़ रही है. संयुक्त राष्ट्र ने पिछले महीने भी इस विषय पर चिंता जताई थी और बाकी बचे 40,000 लोगों के विस्थापन के बारे में बात की थी.

इराकी बलों ने 100 दिन की लड़ाई के बाद जनवरी में मोसुल के पूर्वी हिस्से पर कब्ज़ा कर लिया 19 फ़रवरी तक तिगरिस नदी के पश्चिम में स्थित जिलों को भी अपने अधिकार में ले लिया.

रैपिड रिस्पांस टीम ने दानादन शहर पर भी कब्ज़ा कर लिया है जबकि यूएस प्रशिक्षित काउंटर टेररिज्म सर्विस यूनिट्स दक्षिण-पश्चिम में स्थित सोमूद और ताल-अल-रुमान इलाके में आगे बढ़ रही हैं. सहायक एजेंसीज के मुताबिक मोसुल में हो रहे आत्मघाती हमलों में अब तक सेना और आम नागरिकों के कई हज़ार लोग मारे गए और घायल हुए हैं.