source: Middle East Monitor

फिलिस्तीनी कैदियों के संगठन (पीपीसी) ने इजरायल सेना बलों द्वारा गिरफ्तार किए गए फिलीस्तीनी लोगो में 60 प्रतिशत बच्चों पर इजराइली सैनिकों ने कई अत्याचार किए. इजराइली सैनिकों ने मौखिक रूप से, शारीरिक रूप से या मानसिक रूप से फिलिस्तीनी बच्चों पर अत्याचार किए जा रहें है.

एक बयान में, पीपीसी ने कहा कि इजरायल के कब्जे में रखे गए फिलीस्तीनी नाबालिगों ना सोने दिया जाता है, इजराइली सैनिक उनके साथ मारपीट करते है और इन्वेस्टिगेटर द्वारा उन्हें गुनाह कुबूल ना पर धमकी दी जाती है.

बयान में यह भी कहा गया है कि, इजराइल की जेलों बंद ‘बेगुनाह’ फिलीस्तीनी बच्चों को लंबे वक़्त तक खाने और पीने से रोका गया और उन्हें अपमानित किया गया. उन्हें पूछताछ के लिए घंटों तक इजराइली सैनिकों के अत्याचारों का सामना करना पड़ता है.

source: Middle East Monitor

मिडिल ईस्ट मॉनिटर के मुताबिक, वर्तमान में इजरायल की जेलों में फिलहाल तीन फिलिस्तीनी नाबालिग कैदियों के खातों को पीपीसी की रिपोर्ट में शामिल किया गया है. इन बच्चों के साथ इजराइल के सैनिक बद से बदतर ज़ुल्म कर रहें है.

पीपीसी की रिपोर्ट के मुताबिक, उनकी पूछताछ के लिए उनके साथ कई अत्याचार किये गए. इसमें 17 वर्षीय मुस्तफा अल-बदन, 16 वर्षीय फैसल अल-शाएर और  15 वर्षीय अहमद अल-शलल्देह शामिल है.

आपको बता दें कि, वर्तमान में 6,500 से ज़्यादा फिलिस्तीनियों को इजरायल की जेलों में रखा गया है. जिसमें 57 महिलाएं और लड़कियों और 350 बच्चें शामिल है. ना इजराइल इन्हें रिहाई दे रहा है.

न्यूज़ अरेबिया एकमात्र न्यूज़ पोर्टल है जो अरब देशों में रह रहे भारतीयों से सम्बंधित हर एक खबर आप तक पहुंचाता है इसे अधिक बेहतर बनाने के लिए डोनेट करें
डोनेशन देने से पहले इस link पर क्लिक करके पढ़ें Click Here

वर्ल्ड न्यूज़ अरेबिया का यूट्यूब चैनल सब्सक्राइब करें :-


आज की पसंदीदा ख़बरें
Loading...

शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here