Home मिडिल ईस्ट और जब इस्राइली संसद में गूंजी अज़ान की आवाज़े

और जब इस्राइली संसद में गूंजी अज़ान की आवाज़े

वर्तमान में इस्राइली सरकार अज़ान पर रोक लगाने वाले पारित बिल पर विचार विमर्श कर रही हैं. इस बिल को इस्राइल के प्रधान मंत्री बेंजामिन नेतन्याहू का समर्थन भी मिल चुका हैं. इसी बीच संसद में इस बिल की चर्चा के दौरान अरब सांसद और अरब परिवर्तन आंदोलन के प्रमुख अहमद तैयय्बी ने संसद में ही अज़ान पढ़ दी.

जिस दौरान इस्राइली संसद में मस्जिद-अल-अक़्सा और उसके परिसर में स्थित मस्जिदों पर लाउडस्पीकर में अज़ान पढ़ने वाले बिल पर चर्चा की जा रही थी कि उसी दौरान अहमद तैयय्बी ने भरी सभा में अज़ान पढ़ दी.

वर्ल्ड न्यूज़ अरबिया को मिली जानकारी के अनुसार उन्होंने इस बिल का विरोध करते हुए अज़ान विरोधी क़ानून के लिए ज़ायोनी प्रधान मंत्री नेतनयाहू को ज़िम्मेदार ठहराया और कहा कि इसका मूल कारण, इस्लामोफ़ोबिया और इस्लामी पहचान को समाप्त करना है.

इस दौरान उन्होंने कहा कि अज़ान फलस्तीनी मुसलमानो की ज़िन्दगी का अटूट भाग हैं. गौरतलब हैं कि रविवार को ज़ायोनी कैबिनेट की मंत्रालय समिति ने फलस्तीन स्थित मस्जिद अल-अक़्सा सहित अन्य मस्जिदों में लाउड स्पीकरों पर होने वाली अज़ान पर प्रतिबंध के प्रस्ताव को पारित कर दिया है.