Home मिडिल ईस्ट ट्रम्प के ऐलान के बाद फिलिस्तीन में झड़पें शुरू

ट्रम्प के ऐलान के बाद फिलिस्तीन में झड़पें शुरू

अमेरिकी प्रेसिडेंट डोनाल्ड द्वारा बैतुल ममुक़द्दस को येरुशलम की राजधानी घोषित किये जाने के बाद से खाड़ी देशों में तनाव बढ़ गया है. इस ऐलान के बाद से फिलिस्तीनियों तथा इस्राइलियों के बीच झड़पों की खबर सामने आ रही है. यह झड़पें, ट्रम्प के एलान के कुछ घंटे के भीतर बुधवार रात पूरे अतिग्रहित क्षेत्रों में फ़िलिस्तीनियों और इस्राईलियों के बीच शुरु हुयीं।

गौरतलब है की पूरी दुनिया से इस बात की चेतावनी के बावजूद कि क़ुद्स को इस्राईल की राजधानी घोषित करने से पश्चिम एशिया में हिंसा की नई लहर उठेगी, अमरीकी राष्ट्रपति ने विवादित क़ुद्स को आधिकारिक रूप से इस्राईल की राजधानी घोषित किया।

इससे पहले बुधवार को वाइट हाउस में भाषण के दौरान ट्रम्प ने कहा कि उनकी सरकार तेल अविव से क़ुद्स अमरीकी दूतावास को स्थानांतरित करने की प्रक्रिया भी शुरु करेगी जिसे पूरा होने में वर्षों लगेंगे। यह एलान वॉशिंग्टन के रवैये में बहुत बड़े बदलाव का सूचक है जिसने अमरीकी सरकार की दशकों की विदेश नीति में उथल पुथल मचा दी है।

इस्तांबोल में भी ट्रम्प के एलान के ख़िलाफ़ तुर्क जनता ने अमरीकी वाणिज्य दूतावास के बाहर प्रदर्शन किया। तुर्क विदेश मंत्री ने ट्रम्प के एलान की ग़ैर ज़िम्मेदाराना बयान के रूप में आलोचना की। तुर्क विदेश मंत्री मौलूद चाउश ओग़लू ने कहा कि ट्रम्प के मान्यता देने से क़ुद्स इस्राईल की राजधानी नहीं बन जाएगा।

दुनिया के अनेक नेताओं जैसे सीरियाई राष्ट्रपति बश्शार असद, ब्रितानी प्रधान मंत्री टेरीज़ा मे और फ़्रांसीसी राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रां द्वारा ट्रम्प के एलान की आलोचना के अलावा, संयुक्त राष्ट्र महासचिव एनटोनियो गुटेरेस ने भी ट्रम्प के एलान की आलोचना करते हुए सचेत किया कि फ़िलिस्तीनियों के शहर क़ुद्स की स्थिति के बारे में विवाद को फ़िलिस्तीनियों और इस्राईलियों के बीच सीधी बातचीत से हल होना चाहिए

Previous articleअमेरिकी दूतावास के यरूशलेम हस्तांतरण पर फिलिस्तीन की चेतावनी
Next articleभारत- मुस्लिम मजदूर की बेहरमी से हत्या कर जलाया, विडियो किया वायरल