source: AP photo

जर्मनी को उम्मीद है कि आतंकवादी समूह में शामिल होने के लिए इराक और सीरिया की यात्रा करने वाले नागरिकों के 100 से ज्यादा बच्चे देश में वापस आ सकते हैं.

वेल्श अखबार ने सोमवार को बताया कि ग्रीन्स संसदीय गुट से पूछताछ के जवाब में सरकार ने सूचना दी कि “दाईश समूह में शामिल होने वाले नाबालिंगों में से ज़्यादातर  बहुत छोटी उम्र के बच्चे हो सकते थे.”

ग्रीन्स इंटीरियर विशेषज्ञ इरेन मिहालिक ने हो रही प्रतिक्रिया पर नाराज़गी ज़ाहिर की, जो बहुत ही है, उन्होंने यह भी कहा कि संघीय सरकार ठोस तथ्यों को हासिल करने के बजाय अस्पष्ट जानकारी हासिल कर रही है.

मिहालिक ने कहा कि अच्छी तरह से स्थापित जानकारी की तत्काल ज़रूरत है, ताकि बच्चें फिर से अपने घरों में वापस आ सकें और एक राष्ट्रव्यापी रोकथाम नेटवर्क की स्थापना हो सकें.

source: Daily Mail

सीरिया और इराक में दाईश समूह द्वारा क्षेत्र में बड़े पैमाने पर होने वाले नुकसान की वजह से अपने कुछ परिवारों को जर्मनी में वापिस भेजने का फैसला किया है.

हाल ही के सालों में दाईश की ओर से लड़ने के लिए 9550 लोगों ने सीरिया और इराक के लिए जर्मनी छोड़ दिया था, जिनमें से लगभग एक तिहाई लोग जर्मनी वापिस लौट आयें है, जबकि कई लोगों को लगता है वह मारे जाएँगे. जर्मनी भी जर्मन नागरिकता रखने वाले लोगों को ही राज्य में आने के लिए इजाज़त दी जाएगी.

पूर्व सैनिकों की महत्वपूर्ण वापसी अभी तक नहीं हुई है, जर्मन इंटेलिजेंस प्रमुख हंस-जॉर्ज मासन ने पिछले महीने कहा था, हालांकि महिलाओं, युवाओं और बच्चों की वापसी ध्यान देने योग्य थी क्योंकि सैनिकों ने अपने परिवार को सुरक्षा देने के लिए घर भेजा था.

न्यूज़ अरेबिया एकमात्र न्यूज़ पोर्टल है जो अरब देशों में रह रहे भारतीयों से सम्बंधित हर एक खबर आप तक पहुंचाता है इसे अधिक बेहतर बनाने के लिए डोनेट करें
डोनेशन देने से पहले इस link पर क्लिक करके पढ़ें Click Here

वर्ल्ड न्यूज़ अरेबिया का यूट्यूब चैनल सब्सक्राइब करें :-


आज की पसंदीदा ख़बरें
Loading...

शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here