Home मिडिल ईस्ट सीरिया: अलेप्पो में महिलाओं के लिए बच्चे को जन्म देना मौत का...

सीरिया: अलेप्पो में महिलाओं के लिए बच्चे को जन्म देना मौत का जोखिम

सीरिया में चल रहे संघर्ष के बीच लोगो का इस देश में रहना सुरक्षित नहीं रहा हैं, यहाँ पर रहने वालो से अगर उनकीं परेशानियां पूछेंगे तो शायद उनको यह भी नहीं याद होगा कि वह कैसे-कैसे हालत से गुज़र रहे हैं. इसी बीच दुसरे रमज़ान को अस्पताल में भर्ती हुई एक गर्भवती महिला ने अपना तजुर्बा दुनिया के समाने रखा, जिससे इस बात का अनुमान लगाया जा सकता है कि सीरिया में रहने वाले लोग किन हालातों में अपनी ज़िन्दगी बिता रहे हैं.

उसने बताया कि किस तरह यह अस्पताल चलाये जा रहे हैं, अस्पताल में उपकरणों और पर्याप्त सामग्री की कमी होने के बावजूद भी यहाँ पर इलाज किया जा रहा हैं. और सबसे बड़ी बात, यहाँ पर स्थित अस्पतालों में कैसे महिलाएं अपने बच्चों को जन्म देती हैं जो सबसे बहादुरी का काम है. फ़िलहाल तो यहाँ पर सभी अस्पताल बंद हो चुके इस वक़्त अलेप्पो में  सिर्फ एक अस्पताल अल-ज़हरा हॉस्पिटल कार्यरत हैं.

सीरिया के अलेप्पो में रहने वाली एक गर्भवती महिला रेशमा(बदला हुआ नाम) रमज़ान के मुबारक महीने के दुसरे रोज़े को अपनी एक छोटी बेटी को लेकर सीरिया के अलेप्पो में स्थित एक मात्र अस्पताल, अलेप्पो शिशु अस्पताल पहुंची या अल-ज़हरा हॉस्पिटल जहां उसे दुसरे दिन लड़का पैदा हुआ.कुछ वक़्त बाद वह देखती है कि बच्चे को सांस लेने में परेशानी हो रही है, 29 साल की रेशम परेशानहैरान हो जाती हैं, और डॉक्टर से आग्रह किया के वो उसके बच्चे को अलेप्पो अस्पताल के 20 बचे हुए इन्क्यूबेटरों में रख दे.

जिसके बाद वह बाहर आ जाती हैं और अपनी पार्क की हुई गाडी में बैठकर देखती हैं, कि अस्पताल पर एक मिसाइल आकर गिरता हैं, अस्पताल पर मिसाइल टकराते वक़्त सात नर्स और दो डॉक्टर मौजूद थे, इस धमाके के बाद अस्पताल में मौजूद नौ नयु-बोर्न बच्चों और और 30 बच्चों को लेकर डॉक्टर बेसमेंट कि तरफ भागे, जहां पर हमले का असर नहीं हुआ था.

जिसको बाद सभी बच्चे इन्क्यूबेटरों में सुरक्षित रहते हैं, और दो दिन के लिए अस्पताल को बंद कर दिया गया. जिसके बाद मरम्मत का कार्य शुरू किया जाता हैं, दो दिन बाद अस्पताल फिर से खुल जाता हैं, और पहले ही की तरह फिर से यहाँ इलाज किया जाने लगा.

वही अलेप्पो अस्पताल में बचे तीन स्त्रीरोग विशेषज्ञ डॉक्टर में से एक डॉक्टर मालिक का कहना है कि ‘अस्पताल बहुत छोटा है हम यहाँ पर मरीजों को ज़्यादा देर तक रोक नहीं सकते, गर्भवती महिलाएं जिनको इलाज के बाद कम से कम 12 से 24घंटे तक रखा जाता हैं हम उनको तीन घण्टे के अंदर ही छुट्टी दे देते हैं.”

Web-Title: Death risk for women in Aleppo

Key-Words: Aleppo, Syria, women, Give Birth, hospital, Al-Zahra