Home मिडिल ईस्ट मोसुल युद्ध में पहली बार हुआ ‘रासायनिक हमला’, 12 लोग घायल

मोसुल युद्ध में पहली बार हुआ ‘रासायनिक हमला’, 12 लोग घायल

आइएस के गढ़ मोसुल में चल रहे युद्ध में पहली बार रासायनिक हथियारों का इस्तेमाल हुआ है. इरबिल से अंतर्राष्ट्रीय रेडक्रॉस सोसाइटी के एक डॉक्टर ने इस बात की पुष्टि की है. 11 साल का एक बच्चा गंभीर श्वसन और त्वचा समस्याओं से पीड़ित हमारे पास लाया गया. एक महीने का एक और बच्चा  भी गंभीर रूप से पीड़ित इलाज के लिए लाया गया. इन दोनों बच्चों का इलाज कर रहे डॉक्टर का कहना है कि बच्चों पर इस्तेमाल किया गया रासायनिक पदार्थ अज्ञात था पर ये तय है कि ये दोनों बच्चे रासायनिक हमले से पीड़ित हुए थे.

पूर्वी मोसुल में हुए एक मोर्टार हमले के बाड़ अजीब रासायनिक गंध की शिकायत की जा रही थी, उसी के बाद स्थानीय निवासी ऐसी बीमारियों से पीड़ित हुए हैं. अंतर्राष्ट्रीय रेडक्रॉस सोसाइटी के मध्य-पूर्व निदेशक रॉबर्ट मर्डिनी का कहना है कि आने वाले सभी मरीज आँखों में जलन, लालिमा,उल्टी, खांसी और त्वचा पर छालों से पीड़ित थे. उन्होंने कहा कि अंतर्राष्ट्रीय क़ानून के तहत रासायनिक हथियारों के इस्तेमाल की मनाही के बावजूद ये हथियार युद्ध में इस्तेमाल किये जा रहे हैं.

ये अभी तक ज्ञात नहीं हो सका है इस रासायनिक हमले के पीछे कौन है पर इस्लामिक स्टेट (आइएस) के गढ़ पश्चिमी मोसुल से लगातार मोर्टार दागे जा रहे हैं. माना जाता है कि सीरिया और इराक़ पर नियंत्रण रखने के लिए आइएस लम्बे समय से रासायनिक हथियार बनाता और इस्तेमाल करता रहा है.