Home मिडिल ईस्ट ट्रम्प का फैसला चरमपंथ और भेदभाव को और बढ़ावा देगा

ट्रम्प का फैसला चरमपंथ और भेदभाव को और बढ़ावा देगा

विश्व भर में अमेरिकी राष्ट्रपति के आदेश से हड़कंप मचा हुआ हैं तो वही ईरान ने भी अमेरिकी राष्ट्रपति के इस आदेश पर सख्त रुख इख्तियार किया हैं. ईरान के राष्ट्रपति हसन रुहानी ने इस आदेश की आलोचना करते हुए कहा है कि “ये वक्त देशों के बीच दीवारें बनाने का नहीं है”.

राष्ट्रपति रूहानी ने कहा कि “वो भूल गए हैं कि बर्लिन की दीवार सालों पहले टूट गई थी…. आज हमें ज़रूरत हैं शांति से साथ में रहने की, न कि देशों के बीच दूरियां बनाने की.” उल्लेखनीय हैं कि रूहानी का इशारा मेक्सिको की सीमा पर बनाये जाने वाली दीवार से हैं.

ईरान के विदेश मंत्री मोहम्मद जावेद ज़रीफ़ ने कई ट्वीट कर ट्रंप के इस आदेश का खंडन किया, उन्होंने #MuslimBan हैशटैग का प्रयोग कर लिखा कि “मुसलमानों पर लगे इस बैन को इतिहास में कट्टरपंथियों और उनके समर्थकों के लिए एक बड़े उपहार के रूप में याद किया जाएगा.”

“सभी लोगो को एक ही पैमाने में मापन और भेदभाव करने से चरमपंथी समूहों के नेताओं को इन कमज़ोरियों का फ़ायदा उठाने का मौक़ा मिलेगा. हम अमरीकी नागरिकों का सम्मान करते हैं.”