source-al arebiya

ईरानी सरकार ने प्राथमिक विद्यालयों से अंग्रेजी शिक्षा पर रोक लगा दी है, एक वरिष्ठ शिक्षा अधिकारी ने कहा कि, “यह निर्णय ईरान के सर्वोच्च नेता खामेनेई के बयान के बाद लिया गया, जिसमे उन्होंने कहा था कि “अंग्रेजी भाषा से ‘पश्चिमी संस्कृति के आक्रमण’ का रास्ता तैयार किया जा रहा है.”

राज्य सरकार की उच्च शिक्षा परिषद के प्रमुख मेहदी नवीद-आदम ने कहा कि “सिलेबस में अंग्रेजी भाषा का शिक्षण सरकारी और गैर-सरकारी प्राथमिक विद्यालयों में कानूनों और नियमों के खिलाफ है. उन्होंने कहा कि “प्राथमिक विद्यालयों में प्राथमिक शिक्षा छात्रों की ईरानी संस्कृति के आधार पर रखी गयी है.” उन्होंने कहा की “अंग्रेजी शिक्षा आमतौर पर ईरान के माध्यमिक विद्यालय में शुरू होती है, जो 12 से 14 वर्ष की आयु में होती है, लेकिन ईरान के कुछ प्राथमिक विद्यालय में अंग्रेजी भाषा का अध्ययन किया जा रहा है.”

उन्होंने यह भी कहा कि, “कुछ बच्चे स्कूल के बाद प्राइवेट इंस्टिट्यूट में इंग्लिश भाषा की कोचिंग लेते हैं, जबकि गैर-सरकारी स्कूलों में पढने वाले बच्चों को अंग्रेजी ट्यूशन दिया जाता होता है.

ईरान के इस्लामी नेताओं ने अक्सर “सांस्कृतिक आक्रमण” के खतरों और सर्वोच्च नेता, अयातुल्लाह अली खामेनेई, ने “नर्सरी स्कूलों में अंग्रेजी भाषा के शिक्षण” पर 2016 में आवाज़ उठाई थी.

ईरान के वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि, “बच्चों की प्रारंभिक शिक्षा में अंग्रेजी भाषा को इसलिए प्रतिबंधित किया गया ताकि ईरानी बच्चे ईरानी संस्कृति से वाखिब हो सकें, अंग्रेजी भाषा की जगह अब ईरानी भाषा पढ़ाई जाएगी.

ईरान के अधिकारियों का कहना है कि 80 से ज्यादा शहरों और ग्रामीण शहरों में फैले विरोध प्रदर्शनों के दौरान 22 लोगों की मौत हो गई और 1,000 से ज्यादा लोग  गिरफ्तार हुए, क्योंकि हजारों युवा और श्रमिक वर्ग ईरानियों ने भ्रष्टाचार, बेरोजगारी और अमीर और गरीबों के बीच को रहे भेदभाव को दूर करने के लिए सरकार के खिलाफ विरोध प्रदर्शन किया था.

न्यूज़ अरेबिया एकमात्र न्यूज़ पोर्टल है जो अरब देशों में रह रहे भारतीयों से सम्बंधित हर एक खबर आप तक पहुंचाता है इसे अधिक बेहतर बनाने के लिए डोनेट करें
डोनेशन देने से पहले इस link पर क्लिक करके पढ़ें Click Here

वर्ल्ड न्यूज़ अरेबिया का यूट्यूब चैनल सब्सक्राइब करें :-


आज की पसंदीदा ख़बरें
Loading...

शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here