Home मिडिल ईस्ट जल्द ही सीरिया से खदेड़ दिए जायेंगे आइएसआइएस के आतंकी

जल्द ही सीरिया से खदेड़ दिए जायेंगे आइएसआइएस के आतंकी

सीरिया के मोसुल में इराक़ी सैनिकों और स्वयंसेवी बलों ने आतंकवादी गुट दाइश के अंत की उल्टी गिनती शुरू कर दी है. इराक़ी प्रधानमंत्री हैदर अलएबादी ने पश्चिमी मोसुल के अलक़ीरवान क्षेत्र में इराक़ी सुरक्षाबलों की सफल कार्यवाही का निकट से निरीक्षण किया. इराक़ी प्रधानमंत्री के अतिरिक्त इराक़ी रक्षामंत्री और स्वयंसेवी बलों के कमांडर ने भी इस क्षेत्र का दौरा किया. पश्चिमी मोसुल के अलक़ीरवान क्षेत्र में दाइश के मुक़ाबले में इराक़ी सुरक्षाबल तेज़ी से प्रगति कर रहे हैं.

सीरिया की सीमा से सटे इराक़ी क्षेत्र अलक़ीरवान की स्वतंत्रता के लिए अभियान शुक्रवार को आरंभ हो चुका था. शुक्रवार की शाम तक इस क्षेत्र के दस गावों को आतंकवादियों के चंगुल से मुक्त करा लिया गया था. शनिवार की शाम, इराक़ी स्वयंसेवी बल क़ीरवान में अन्य क्षेत्रों से प्रविष्ट हो गए. इराक़ी सैनिकों ने दाइश के आंतवादियों को सीरिया से की जाने वाली सहायता के सारे रास्ते काट दिये हैं. सैनिक सूत्रों का कहना है कि पश्चिमी मोसुल के 90 प्रतिशत से अधिक भूभाग को दाइश के आतंकवादियों से मुक्त कराया जा चुका है. इन सूत्रों का कहना है कि पवित्र महीने रमज़ान से पहले अर्थात लगभग दस दिनों के भीतर इस नगर को पूर्ण रूप से दाइश सेआज़ाद करा लिया जाएगा.

सैन्य विशेषज्ञों का कहना है कि रणनीतिक दृष्टि से विशेष महत्व वाले क़ीरवान नगर को आज़ाद कराने में इराक़ के स्वयंसेवी बलों की भूमिका बहुत प्रभावी रही है. इससे पहले भी कई क्षेत्रों को दाइश से चंगुल से निकलवाने में इराक़ी स्वयंसेवियों ने बड़ी हिम्मत से काम लेकर उन्हें आज़ाद करा लिया. इन स्वयंसेवी बलों के धैर्य और मनोबल को देखते हुए इराक़ के सैन्य कमांडर ने पूरे विश्वास के साथ घोषणा कर दी है कि क़ीरवान नगर को रमज़ान से पहले ही पूरी तरह से आजाद करा लिया जाएगा.

वर्तमान समय में इराक़ के पश्चिमी मोसुल में ही दाइश का आखिरी ठिकाना है. इराक़ी सैनिकों और स्वयंसेवी बलों ने इसे पूरी तरह से घेर लिया है और सीरिया की सरहद से की जाने वाली दाइश सहायता के मार्ग बंद कर दिये हैं. इस प्रकार कहा जा सकता है कि इराक़ी सैनिकों और संवयंसेवी बलों के सहयोग से मुहम्मद रसूल अल्लाह नामक सैन्य अभियान का मुख्य उद्देश्य पश्चिमी मोसुल को दाइश से आज़ाद कराना है जो निकट भविष्य में प्राप्त किया जा सकता है.