Home मिडिल ईस्ट सभी देशों का समर्थन प्राप्त करने को इजराइल ने किया सम्मेलन का...

सभी देशों का समर्थन प्राप्त करने को इजराइल ने किया सम्मेलन का आयोजन

विदेशी समाचार एजेंसी ने इजरायल द्वारा अधिकृत फिलिस्तीन मे 20 देशो के 150 प्रतिनिधियो की उपस्थिति मे “नए युद्ध” और समर्थन के विषय पर सम्मेलन आयोजित करने की सूचना दी।

बुधवार को शुऱू हुआ यह सम्मेलन तीन दिनो तक चलेगा जिसमे “हिज़्बुल्लाह” के इजरायली शासन के लिए खतरा होने पर चर्चा की जाएगी।

प्राप्त रिपोर्ट के अनुसार सम्मेलन मे भाग लेने वाले व्यक्ति आज गोलान हाइट्स मे अधिकृत फिलीस्तीनी क्षेत्र की उत्तरी सीमाओ का दौरा करेंगे।

उक्त रिपोर्ट मे आया है कि सम्मेलन मे दुनिया भर के प्रमुख प्रोफेसर उपस्थित रहेंगे और शहरी वातावरण मे आधुनिक युद्ध और सैन्य चुनौतियो का सामने करने वाले कानूनी मुद्दो पर चर्चा होना सम्मेलन के कार्यक्रम मे शामिल है।

इब्री भाषा की वेवसाइट के अनुसार, “सम्मेलन आयोजित करने का उद्देश्य आईएसआईएस के खतरे को सीमित करने के मार्ग खोजना नही है बल्कि सम्मेलन मे हिज़्बुल्लाह पर चर्चा को शामिल किया गया है क्योकि हिज़्बुल्लाह के सचिव सैयद हसन नसरूल्लाह ने स्पष्ट रूप से घोषणा की है कि हिज़्बुल्लाह केवल दक्षिणी लेबनान तक सीमित नही है बल्कि लेबनान के सभी हिस्सो मे हिज़्बुल्लाह मौजूद है।”

इजरायली मीडिया के अनुसार सम्मेलन मे “हमास से कैसे निपटा जाए” विशेष रूप से जांच की जाएगी क्योकि हमासी तत्व आवासीय क्षेत्रो मे मौजूद है और बाहरी सुरंगो से आते है जोकि घरो और आवासी कॉलोनीयो मे बनी हुई है।

साइट ने आगे लिखा कि “आपराधिक उद्देश्यो का मूल्यांकन” सम्मेलन के कार्यक्रम का अंतिम अनुच्छेद है, अर्थात भवनो के भूमिगत स्थानो मे प्रक्षेपास्त्रों (मिसाइल) का भंडार एक सार्वजनिक केंद्र के लिए वास्तविक धमकी है या यह कि अस्पताल को उड़ाने की धमकी है? सम्मेलन मे ग्राउंड युद्धाभ्यास के मुद्दे पर भी चर्चा की जाएगी।

पर्यवेक्षकों का मानना है कि इजरायली शासन ने अधिकृत फिलिस्तीन की सीमाओ पर पिछले एक साल मे खाइ खुदवाना, सीमाओ पर दीवारो का निर्माण और कंटीले इलैक्ट्रिक तार लगवाना, स्मार्ट कैमरे स्थापित करने जैसे काम शासन के संभावित हनन के खिलाफ फिलिस्तीनी और लेबनान के प्रतिरोध समूहो की क्षमता के बारे मे चिंताओ के कारण किए है।