Home मिडिल ईस्ट कुर्द महिला ने खामेनेई को लिखे ख़त में बयान किये जेल में...

कुर्द महिला ने खामेनेई को लिखे ख़त में बयान किये जेल में हुए अत्याचार

कुर्दी (kurdish) राजनीतिक कैदी अफसाना ब्याज़ीदी ने कहा है कि उससे ईरानियन इंटेलिजेंस सेण्टर में पूछताछ के दौरान उसका बलात्कार किया गया. ईरान के सुप्रीम लीडर अली खामेनेई को एक पत्र लिखने बाद उसे और प्रताड़ित किया गया और एक एकांत कोठरी में रखा गया.

एक खबर के मुताबिक, ब्याज़ीदी, जो वर्तमान में केर्मान जेल में 4 साल कैद की सजा काट रही हैं, उन्होंने खामेनेई को जेल में अन्य महिलाओं के साथ हुए बलात्कार के लिए भी दोषी ठहराया. मानवाधिकार कार्यकर्ता ने ब्याज़ीदी का लिखा पत्र लीक कर दिया है और कई विपक्षी वेबसाइटें इसे छाप रही हैं.

और पढ़ें: सऊदी अरब में तीन साल तक हुआ भारतीय महिला का यौन शोषण

खामेनेई को संबोधित करते हुए ब्याज़ीदी ने लिखा कि मैं आपको एक ऐसे आदमी के रूप में संबोधित कर रही हूँ जो 38 साल पहले धरती पर खुदा का खलीफा था. आप इस्लाम और धर्म की आड़ में ईरानी लोगों और अल्पसंख्यकों को गुलाम बना चुके हैं. मैं उस कैद, प्रताड़ना और बलात्कार को नहीं भूलूंगी जो मेरे और अन्य लोगों के साथ हुआ. एक दिन आएगा जब आप और आपके सहयोगियों को जवाब देना होगा.

ब्याज़ीदी को छात्र सक्रियता से जुड़े आरोपों के कारण पिछले साल अप्रैल में गिरफ्तार किया गया था. पिछली साल प्रकाशित एक अन्य पत्र में, ब्याज़ीदी ने कहा कि हालांकि ईरान में सभी कैदियों के साथ बहुत बुरा व्यवहार किया जाता है, लेकिन सबसे ख़राब हालत कुर्दों की है. कुर्दिश होना एक अक्षम्य अपराध है क्योंकि ये खुद-ब-खुद आपको दुश्मन की श्रेणी में खड़ा कर देता है. कुर्द होने के कारण आपको ईरानी नागरिक नहीं माना जाता है.

web title – Kurdish women told Khamenei that in the prison atrocities committed

paragraph – Kurdish political prisoner Afsana Baijidi has said that he was raped during interrogation in the Iranian Intelligence Center.