Home मिडिल ईस्ट फिलिस्तीन ने पहली बार जारी किया इजराइल के विरुद्ध कार्यवाही का विडियो

फिलिस्तीन ने पहली बार जारी किया इजराइल के विरुद्ध कार्यवाही का विडियो

फ़िलिस्तीन के इस्लामी प्रतिरोध आंदोलन हमास की सैन्य शाखा इज़्ज़ुद्दीन क़स्साम ने एक वीडियो जारी किया है. ये विडियो जारी करके उन्होंने इस्राईल के विरुद्ध अपनी अनोखी कार्यवाही का दृश्य पेश किया है.

एक निजी टीवी चैनल की रिपोर्ट के अनुसार, नज़ीरुल इन्फ़ेजार नामक सैन्य कार्यवाही की नवीं वर्षगांठ के अवसर पर इज़्ज़ुद्दीन क़स्साम ब्रिगेड ने इस्राईल की करम अबू सालिम सैन्य छावनी के विरुद्ध कार्यवाही की. इस ब्रिगेड की इन्टरनेट यूनिट ने पहली बार इस कार्यवाही की विडियो जारी की है. इस विडियो में प्रोग्राम बनाते और धमाके के समय की कारवाई दिखाई गयी है.
अलमयादीन टीवी चैनल की रिपोर्टर मरियम उस्मान ने कहा कि नौ साल पहले इन्हीं दिनों इज़्ज़ुद्दीन क़स्साम ब्रिगेड ने ज़ायोनी शासन के विरुद्ध शहादत प्रेमी कार्यवाही नज़ीरुल इन्फ़ेजार अभियान अंजाम दिया था.
उस अभियान की विशेषता, इसका सुव्यवस्थित और छोटा होना था. उस अभियान में प्रयोग किए गये संसाधन और कार्यवाही का विवरण पहली बार क़स्साम ने वीडियो जारी करके बताया.
इस वीडियो में क़स्साम ब्रिगेड के चार संघर्षकर्ताओं को दिखाया गया है जो शहादत प्रेमी कार्यवाही में भाग लेते हैं. इस वीडियो से यह भी पता चलता है कि इस अभियान में ज़ायोनी सैन्य वाहन से मिलती जुलती एक गाड़ी का इस्तेमाल किया गया था.
इस रिपोर्ट में बताया गया है कि 18 अप्रैल 2008 की सुबह छह बजे के करीब चार कार बम, गाज़ा पट्टी से लगी इस्राईली सैन्य छावनी से निकट अबू सालिम छावनी की ओर बढ़ती हैं, इन गाड़ियों में बड़ी संख्या में विस्फोटक पदार्थ भरे हुए थे और दसियों मोर्टार हमले के बाद इसने गाज़ा पट्टी की सीमा से लगे इस्राईली सैन्य ठिकानों पर हमले किए.

दो कार बमों ने सैन्य छावनी के भीतर और एक ने सैन्य ठिकाने के सामने स्वयं को धमाके से उड़ा लिया. इन तीन गाड़ियों में गस्सान अरहीम, अहमद मुहम्मद अबू सुलैमान और महमूद अहमद अबू समरा थे जबकि चौथी गाड़ी में तकनीकी ख़राबी होने के कारण रास्ते से वापस लौट गयी, यह गाड़ी ख़ालिद अबू अस्कर चला रहे थे. यह संघर्षकर्ता वर्ष 2009 के युद्ध में शहीद हो गया.

रिपोर्टर ने बताया कि इस कार्यवाही में कई ज़ायोनी सैनिक मारे गये और घायल हुए किन्तु इस्राईल ने केवल तेरह सैनिकों के घायल होने की सूचना दी थी. हमास ने यह वीडियो जारी करके यह दिखाने का प्रयास किया है कि वह इस्राईल के हमलों का जवाब देने के लिए हमेशा तैयार है.