Home मिडिल ईस्ट जेल में भूख हड़ताल कर रहे फिलिस्तीनी पत्रकार की तबियत गंभीर

जेल में भूख हड़ताल कर रहे फिलिस्तीनी पत्रकार की तबियत गंभीर

जेल में अनशन पर बैठे फिलिस्तीनी पत्रकार मोहम्मद-अल-कीक की तबियत नाटकीय रूप से ख़राब हो गयी है. उनकी पत्नी के मुताबिक, 32 दिन से भूख हड़ताल पर बैठे अल-कीक की तबियत अचानक ख़राब हो गयी है.

अल-कीक की पत्नी फयेहा शालाश ने बताया कि अल-कीक पिछले एक हफ्ते में 2 बार बेहोश हुए जिससे पता चलता है कि उनकी तबियत गंभीर रूप से बिगड़ गयी है. उन्होंने किसी भी इलाज या दावा को लेने से इनकार कर दिया है.

जेल अस्पताल में अल-कीक के तेजी से गिरते स्वास्थ्य को देखते हुए उन्हें मंगलवार को इजराइल के आसाफ़ हरोफेह मेडिकल सेण्टर ले जाया गया. शालाश ने बताया कि अल-कीक का वज़न काफी गिर गया है और उन्हें मतली की शिकायत रहने लगी है.

पिछले साल मई में, अल-कीक को उनकी नजरबंदी के विरोध में 94 दिन की भूख हड़ताल के बाद इजरायल ने हिरासत से रिहा किया था। लेकिन पिछले माह हिंसा भड़काने के आरोप में इजराइल के अधिकारियों ने अल-कीक को वापस गिरफ्तार कर लिया.

इजराइल में ‘प्रशासनिक रोक’ की नीति के तहत कैदियों को एक वर्ष तक बिना मुक़दमे या आरोप के हिरासत में रखा जा सकता है. फिलिस्तीन के आधिकारिक आंकड़ों के मुताबिक फिलहाल 7000 से अधिक फिलिस्तीनियों को अब इसरायली जेलों में रखा जा रहा है. जिन में से लगभग 700 लोगों पर ‘प्रशासनिक रोक’ लगायी गयी है.