ईरान की इस्लामी क्रांति की सेना आईआरजीसी के एक वरिष्ठ कमांडर ने इस्राईली प्रधान मंत्री नेतनयाहू को सलाह दी है कि वह तैरने की प्रैक्टिस कर लें, इसलिए कि निकट भविष्य में इलाक़े से भागने के लिए उनके पास इसके अलावा और कोई विकल्प नहीं होगा।

आईआरजीसी के उप प्रमुख ब्रिगेडियर जनरल हुसैन सलामी ने आईआरजीसी के कमांडरों और अधिकारियों को संबोधित करते हुए इस्फ़हान में कहा, नेतनयाहू को यह समझ लेना चाहिए कि उनके पास इलाक़े से भाग खड़े होने के अलावा और कोई विकल्प नहीं है, इसलिए उन्हें भूमध्य सागर में तैनरा सीख लेना चाहिए।

जनरल सलामी ने नेतनयाहू को यह सुझाव ऐसी स्थिति में दिया है कि जब इस्राईली अधिकारियों ने ईरानोफ़ोबिया में अत्यधिक वृद्धि कर दी है और नेतनयाहू ने संयुक्त राष्ट्र महासभा के सम्मेलन में ईरान पर परमाणु हथियारों को छुपाकर रखने का आरोप लगाया था।

ईरान या इस्लामी प्रतिरोध की ओर से ज़ायोनी अधिकारियों के लिए इस तरह की “सलाह” कोई पहली बार सामने नहीं आई है, इससे कुछ महीने पहले ही हिज़्बुल्लाह के सैय्यद हसन नसरुल्लाह ने नेतनयाहू को चेतावनी देते हुए कहा था कि अगर इस्राईल ने लेबनान पर हमला करने की ग़लती की तो हिज़्बुल्लाह इस्राईल पर इतने मिसाइल बरसाएगा कि इस्राईलियों को समुद्र पार भागने के लिए समय नहीं मिलेगा, जहां से वे आए थे।

अरबी भाषा के अख़बार राय-अल-यौम के संपादक अब्दुल बारी अतवान ने इस संदर्भ में लिखा है कि जनरल सलामी नेतनयाहू को इस तरह की नसीहत हवा में नहीं दे रहे हैं, इसलिए कि जिस पद पर वे हैं वे अच्छी तरह जानते हैं कि वे क्या कह रहे हैं, वह अपने शब्दों का चयन बहुत ध्यानपूर्वक करते हैं और उनके संदेश का एक निर्धारित लक्ष्य होता है। इसके अलावा यह चेतावनी केवल मनोवैज्ञानिक युद्ध का हिस्सा नहीं है।

न्यूज़ अरेबिया एकमात्र न्यूज़ पोर्टल है जो अरब देशों में रह रहे भारतीयों से सम्बंधित हर एक खबर आप तक पहुंचाता है इसे अधिक बेहतर बनाने के लिए डोनेट करें
डोनेशन देने से पहले इस link पर क्लिक करके पढ़ें Click Here

वर्ल्ड न्यूज़ अरेबिया का यूट्यूब चैनल सब्सक्राइब करें :-


आज की पसंदीदा ख़बरें
Loading...

शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here