Home मिडिल ईस्ट मुस्लिम देशों से यूएस जाने वाले यात्री नए नियम से हुए बेहाल

मुस्लिम देशों से यूएस जाने वाले यात्री नए नियम से हुए बेहाल

दुबई: अमेरिका और ब्रिटेन के मिडिल ईस्ट के कुछ मुस्लिम देशों (muslim countries) से आने वाली उड़ानों में इलेक्ट्रॉनिक उपकरण बैन करने पर मिडिल ईस्ट के यात्रियों ने हताशा व्यक्त की. यात्री इस नियम को लेकर भ्रम में हैं. इस नियम पर तमाम तरह की अटकलें लगायी जा रही हैं. शनिवार से, तुर्की और अरब देशों के प्रमुख केंद्रों से अमेरिका और ब्रिटेन की उड़ानों पर यात्रियों को लैपटॉप और टैबलेट्स सहित स्मार्टफोन से बड़े किसी भी डिवाइस की जांच करवानी अनिवार्य होगी. प्रतिबन्ध लगने से यात्रियों को इस नियम की जानकारी होने के दरमियान पकडे गए हज़ारों यात्रियों को दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है. यात्रियों की नज़र में ये एक बेतुका और बेहूदा नियम है.

और पढ़ें: सऊदी अरब ने इस देश के साथ साइन की 65 अरब डॉलर की डील

आबू धाबी में रहने वाले एक अमेरिकन प्रवासी, जिन्हें अगले हफ्ते की फ्लाइट से अपने घर वापस जाना है, ने सवाल किये, क्या ऐसे और कोई नियम हैं जो मुझे घर जाने से पहले पता होने चाहिए? उन्होंने पुछा कि क्या उन्हें शेव करनी चाहिए? क्या वो नीले बॉक्सर पहन सकते हैं? दुबई से यूएस जाने वाले एक व्यक्ति की शिकायत थी कि उनका लैपटॉप और कैमरा ले लिया गया. वाया लन्दन कनाडा जाने वाले यात्री भी टुनिस हवाई अड्डे पर भ्रमित स्थिति में दिखे. एक यात्री कहते हैं कि उन्हें लैपटॉप और आईपैड की ज़रूरत होती है, ये उनकी निजी चीजें हैं. वो इन्हें किसी और के हवाले कैसे दें. ये चीजे क्षतिग्रस्त या चोरी भी हो सकती हैं.

मध्य पूर्व में रहने वाले और वहां की यात्रा करने वाले यात्री भी इस नियम को लेकर सशंकित हैं. ऐसे बहुत से लोग हैं जिन्हें इस नियम के कारण समस्या हो रही है. उन्हें आशंका है कि अभी प्रतिबन्ध और कड़े हो सकते हैं. ज्ञात हो कि ये नियम 25 मार्च से पूर्ण रूप से लागू किया जायेगा. कुछ समय पहले आतंकवादी हमले से प्रभावित हुई पर्यटन आधारित अर्थव्यवस्था वाले ट्युनिशिया ने भी इस नियम को लेकर चिंता जताई है. इस पर अमेरिकी अधिकारियों ने सार्वजनिक रूप से सुरक्षा संबंधी चिंताओं का हवाला दिया है.

अमेरिका ने यमन में जनवरी के बाद से एक्यूएपी लक्ष्य पर कई हवाई छापे मारे है. पेंटागन ने इस महीने 40 स्ट्राइक की पुष्टि की है लेकिन विशेषज्ञों ने प्रतिबंधों के पीछे अन्य उद्देश्यों को रद्द नहीं किया है.

web title – Travelers from the Muslim countries to the United States were troubled

paragraph – Middle East passengers expressed their frustration when banning electronic equipment in the upcoming flights from some of the Middle East.