Home मिडिल ईस्ट “बिक्री के लिए नहीं है फिलिस्तीन ” : पीएलओ सचिव

“बिक्री के लिए नहीं है फिलिस्तीन ” : पीएलओ सचिव

फिलिस्तीन लिबरेशन संगठन( पीएलओ) की कार्यकारी समिति के सचिव साईब इरेकट ने कल कहा की “फिलिस्तीनी बिक्री के लिए नहीं है और फिलिस्तीन के अधिकारों को “संदिग्ध” वित्तीय या राजनीतिक सौदों के अधीन नहीं किया जाएगा जो अंतरराष्ट्रीय कानूनों पर आधारित नहीं हैं.”

अमेरिका राष्ट्रपति अलग हो गए हैं शांति से 

मिडिल ईस्ट मॉनिटर की खबरों के अनुसार उन्होंने यह बयान अमेरिकी विदेश सचिव, माइक पोम्पो के जवाब में दिया, जिन्होंने अभी हाल ही में तेल अवीव में कहा था कि अमेरिका फिलीस्तीनियों की इस्रैलियों के साथ बातचीत कराने की जिद्द कर रहा है.”

जिसके जवाब में पीएलओ सचिव ने कहा की “फिलीस्तीनी रुख दृढ़ है और अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने जेरुसल को इजराइल की राजधानी के रूप में पहचानने के फैसले से शांति प्रक्रिया से खुद को अलग कर दिया है.”

उन्होंने स्वीडिश विदेश मंत्री अन्निका सोडर के साथ एक बैठक के दौरान पूछा की ” जेरुसलम के मुद्दों को बाहर कर और जेरुसलम से शरणार्थियों को बाहर कर शांति कैसे प्राप्त की जा सकती है. ?”

पूर्वी जेरुसलम के बिना फिलिस्तीन देश है अधूरा 

मिडिल ईस्ट मॉनिटर की खबरों के अनुसार उन्होंने कहा की अमेरिका शांति प्रक्रिया में मिडिल ईस्ट में भागीदार नहीं हो सकता है और अमेरिका को यह हक़ तब तक नहीं है जब तक कि वह यरूशलेम पर लिए हुए फैसले की वह इजराइल की राजधानी के रूप में जेरुसलम को मान्यता देता है- को वापस नहीं लके लेता, क्योंकि पूर्वी जेरुसलम के बिना फिलिस्तीन देश अधूरा है.

उन्होंने कहा की “हम एक ऐसे समाधान की तलाश कर रहे हैं जो शरणार्थियों और कैदियों के मुद्दे को प्रासंगिक अंतरराष्ट्रीय संकल्पों के अनुसार सभी अंतिम स्थिति के मुद्दों को हल करने की गारंटी देता है, … वाशिंगटन समस्या का हिस्सा बन गया है, न कि समाधान का.