अनातोली समाचार एजेंसी की रिपोर्ट के मुताबिक़ तुर्की के राष्ट्रपति रजब तय्यब एर्दोग़ान ने कहा है कि चरमपंथी विचारधारा वाले लोगों और किसी भी तरह के आतंकवाद का इस्लाम धर्म से कोई संबंध नहीं है। उन्होंने कहा कि दुनिया के कुछ इस्लाम दुश्मन देश और गुट तकफ़ीरी आतंकवादी गुट दाइश को इस्लाम से जोड़ कर मसुलमानों के ख़िलाफ़ दुनिया भर में दुष्यप्रचार करने में लगे हुए हैं, जबकि दाइश का इस्लाम और मुसलमानों से कोई संबंध ही नहीं है।

तुर्की के राष्ट्रपति ने कहा कि दाइश एक ख़ूंख़ार अपराधिक आतंकी गुट है जिसको कुछ इस्लाम दुश्मन शक्तियों ने जन्म दिया है। उन्होंने कहा कि यह कैसे हो सकता है कि जो इस्लाम बेगुनाह की हत्या को सबसे बड़ा जुर्म मानता हो उसके मानने वाले किसी बेगुनाह का गला काटें। अर्दोग़ान ने कहा कि इस्लाम का स्पष्ट संदेश है कि किसी भी इंसान पर अत्याचार नहीं किया जा सकता।

source: Middle East Monitor

इस बीच तुर्की के राष्ट्रपति ने जर्मनी और तुर्की के संबंधों को सकारात्मक बताया और कहा कि हमारे दुश्मनों का यह प्रयास है कि किसी भी तरह तुर्की को यूरोप का दुश्मन बना दिया जाए। उन्होंने कहा कि दुश्मनों की कोशिश बेकार जाएगी क्योंकि तुर्की हमेशा से यूरोप का दोस्त था और रहेगा।

न्यूज़ अरेबिया एकमात्र न्यूज़ पोर्टल है जो अरब देशों में रह रहे भारतीयों से सम्बंधित हर एक खबर आप तक पहुंचाता है इसे अधिक बेहतर बनाने के लिए डोनेट करें
डोनेशन देने से पहले इस link पर क्लिक करके पढ़ें Click Here

वर्ल्ड न्यूज़ अरेबिया का यूट्यूब चैनल सब्सक्राइब करें :-


आज की पसंदीदा ख़बरें
Loading...

शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here