Home एशिया ढाका- पानी को फोटोशॉप से खून बनाकर मीडिया ने बोला झूठ?

ढाका- पानी को फोटोशॉप से खून बनाकर मीडिया ने बोला झूठ?

पिछले दिनों क़तर की राजकुमारी को लेकर झूठी खबरें उड़ाने वाली भारतीय मीडिया ने ईद उल अजहा पर फिर से एक कारनामा कर दिखाया जहाँ बांग्लादेश की सड़कों पर पानी भरी फोटो को पहले फोटोशॉप के ज़रिये खून बहता हुआ दिखाया फिर उसे मुस्लिम समाज से जोड़कर दिखा दिया.

जब मीडिया में कोई ऐसी बात चलती है जो जनता के लिए उसे सत्यापित करना और भी आसान हो जाता है. इस बार झूठ फैलाने का कारनामा करने वाले कोई छोटे मोटे अख़बार नही बल्कि cnn और इंडिया टुडे जैसे नामी गिरामी मीडिया हाउस है जिन्होंने चित्रों को बिना सत्यापित किये सीधे प्राकशित कर दिए.

14333039_1522652984427243_719698261715167596_n चूँकि देखा जाए तो दो झूठी घटनाए जो वायरल की गयी है दोनों ही मुस्लिम समाज से जुडी है जिसे देखकर यह कहा जा सकता है की या तो यह सब जानबूझकर किया जा रहा है या फिर मुस्लिम समाज से जुडी घटनाओं को मीडिया हाउस इस लायक नही समझता की उन्हें सत्यापित किया जाये या फिर शायद किसी का डर नही है.

आखिर क्यों बनायी गयी ऐसी खबर ?

आम तौर पर जब ईद की दिन जानवर की क़ुरबानी की जाती है तो उसका खून नाली के रास्ते घर से बाहर निकाल दिया जाता है लेकिन अगर ऐसे समय पर बारिश हो जाये तो खून बारिश के पानी के साथ मिल जाता है ऐसा ही ढाका में भी हुआ जहाँ ईद के दिन हुई बारिश के तथा उसी समय पर चल रही क़ुरबानी के कारण कुछ स्थानों पर (खासतौर पर वहां जहाँ पानी निकलने का रास्ता नही था) पानी के साथ खून भी जमा हो गया जिसे लेकर मीडिया ने ढाका को खून की नदी बना दिया और इसी आड़ में फोटोशॉप चित्र पब्लिश करना शुरू कर दिए.

14358832_1376149669069346_2502031313324599763_n

14370189_1376149645736015_880865111447053348_n

अब जब CNN और इंडिया टुडे जैसे नामी गिरामी मीडिया हाउस इस तरह की झूठी ख़बरें प्रस्तुत करने लगे तो पाठकों को चाहिए की खुद इस तरह की ख़बरों को सत्यापित करें. अचानक से किसी भी खबर पर आंखमूंद कर भरोसा ना करे.

वर्ल्ड न्यूज़ अरेबिया इस खबर के सत्यापन की ज़िम्मेदारी नही लेता